सीक्रेट रिपोर्ट जाँच में हुआ बड़ा खुलासा फंस सकते हैं शशि थरूर, सुनंदा पुष्कर की हत्या हुई थी…

दिल्ली पुलिस की ख़ुफ़िया रिपोर्ट बता रही है कि सुनंदा पुष्कर की मौत दवा के ओवरडोज के कारण नहीं हुई थी बल्कि उनकी ह्त्या की गई थी पुलिस अधिकारी भोला शंकर जायसवाल ने अपनी रिपोर्ट में साफ कहा है कि सुनंदा की मौत स्वाभाविक नहीं थी बल्कि उनकी हत्या हुई थी जायसवाल ने एम्स की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि सुनंदा के शरीर पर दांत से काटे जाने के निशान इंजेक्शन के घाव सहित हाथापाई के दौरान शरीर पर आई खरोंचें हत्या की ओर इशारा करती हैं|

coveragetimes.in
Source

इस खुलासे के बाद सुनंदा के पति शशि थरूर और कांग्रेस पार्टी की मुश्किलें नए सिरे से बढ़ सकती है इस मामले में नया खुलासा होने के बाद सुनंदा की मौत के समय लिखी गई पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी संदेह के घेरे में आ गई है पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दवा के अत्यधिक डोज के कारण उनकी मौत बताया गया था शरीर पर लगी चोट के निशान पुराने बता दिए गए थे ऑटोप्सी रिपोर्ट के मुताबिक सुनंदा की मौत जहर से हुई थी।जिस दवा से उनकी मौत हुई उसका नाम अल्प्राजोलम है|

coveragetimes.in
Source

मानसिक शांति के लिए इस दवा का इस्तेमाल होता है सुनंदा के शरीर पर इंजेक्शन लगाने और दांत से काटने के निशान भी मिले कुछ घाव ऐसे मिले जो उनकी मौत से पहले 12 घंटे से लेकर 4 दिन के दौरान दिए गए इस नए खुलासे के मीडिया में आने के बाद निश्चित ही शशि थरूर तनाव में होंगे दिल्ली पुलिस ने कहा है कि यह पूरा मामला जांच के दायरे में है पुलिस इस मामले की पूरी रिपोर्ट कोर्ट में दाखिल करेगी इस मामले में सबसे पहला संदेह सुनंदा पुष्कर के पति शशि थरूर पर जा रहा है क्योंकि मौत से पहले उन दोनों के बीच क़ाफी तनाव चल रहा था जाहिर है दिल्ली पुलिस सबसे पहले उनसे ही दोबारा पूछताछ करेगी|

coveragetimes.in
Source

थरूर के नौकर नारायण सिंह के बयानों के आधार पर ये साबित हुआ है कि दोनों के बीच सुनंदा की मौत से पहले मारपीट भी हुई थी इस मामले में प्रमुख गवाह रहे ड्राइवर बजरंगी और करीबी मित्र संजय दीवान का पॉलीग्राफ टेस्ट भी कराया गया था वरिष्ठ पत्रकार नलिनी सिंह से भी पूछताछ हो चुकी है सुनंदा के बिसरा को अमेरिका में एफबीआई की लैब में भेजा गया था सुनंदा की मौत के बाद शशि थरूर के ब्लैकबेरी फोन से चैट रिकॉर्ड मिटा दिए गए थे|

coveragetimes.in
Source

इस चैट को रिकवर करने के लिए 26 सितंबर को कनाडा भेजा गया था क्योंकि भारत में ब्लैकबेरी का डेटा रिकवर करने की व्यवस्था नहीं है दिल्ली पुलिस थरूर से इस तथ्य पर पूछताछ जरूर करेगी कि उनके फोन से डाटा क्यों मिटा दिया गया था यदि वे इस मामले में बेदाग थे तो उन्होंने साक्ष्य मिटाने की कोशिश क्यों की मामला नए सिरे से खुला है इसलिए उम्मीद है कि सुनंदा पुष्कर की हत्या के कारणों और कातिल तक पुलिस अवश्य पहुंचेगी|

वीडियो देखने के लिये क्लिक करें –